मैं आसमान हूँ

· Blog

 

मैं आसमान हूँ |
मैं आसमान हूँ |
आसमान की तरह मैं बदलना जारी रखूँगा,
चमकने से उज्ज्वलता तक,
काले से रंगीन तक
जैसे आसमान बदलता रहेगा, मैं भी बदलता रहूँगा,
मैं भी बदलता रहूँगा|
मेरे आसमान में काला अँधेरा बादल भी होगा,
और सूरज की रौशनी भी होगी,
सूरज की रौशनी से मेरा आसमान फिर से उज्ज्वलित होगा |

लेकिन मुझे यकीं है इस चीज़ का भी की वोह काला बादल फिर से आएगा और अँधेरा फैलाएगा,
पर मैं वापिस लड़के उस काला साया को अपने सूरज की रौशनी से उज्ज्वलित कर दूंगा,
क्यों की यह आसमान मैं हूँ |

Back to Blog
Khanjan BhattWritten by Khanjan Bhatt ·

Khanjan is an advertising professional aiming to make it big in the mad-ad world. He is a quintessential gujju born with a sweet tooth. If genie gave him 3 choices, he would spend all three in travelling to every part of the world, and savouring every cuisine possible!


NextBillboard at the Junction

0 Comments

CLOSE
CLOSE